काले जादू व बुरी नज़र से बचें। करें अपनी व अपने प्रियजनों की रक्षा।

काले जादू व बुरी नज़र से बचें।

पिछले कुछ दिनों में मुझसे बुरी नज़र व काला जादू के सम्बन्ध में अनेक सवाल पूछे गये। तो मैंने सोचा की क्यों ना इस पर एक लेख लिखकर लोगों के इसके विषय में जानकारी दी जाये। इस लेख का उद्देशय कोई अंधविश्वास फैलाना नहीं है, अपितु जो लोग इसमें विश्वास करते हैं या इसके बारे में जानकारी लेना चाहते हैं, उनको इस विषय से अवगत कराना है।

 

हर किसी की अपनी अपनी मान्यताएं या विश्वास होते हैं। कुछ लोग आत्माओं में विश्वास करते हैं तो कुछ इसको मन का वहम मानते हैं। कुछ लोग भगवान को मानते हैं, तो कुछ लोग नहीं। इसी तरह कुछ लोग काला जादू को मानते है, तो कुछ इसको अंधविश्वास मानते हैं।

 

तो क्या है यह काला जादू?

काला जादू उन क्रियाओं का संग्रह है जिनके माध्यम से किसी अन्य इंसान को किसी भी प्रकार की हानि पहुचायी जाए, आकाल मृत्यु की कोशिश की जाए, बीमार किया जाए, या किसी भी प्रकार का दुर्भाग्य उसके जीवन में लाया जाए। इन प्रक्रियाओं से पीड़ित व्यक्ति कभी कभी मानसिक रूप से विक्षिप्त भी हो सकता है।

 

क्या काला जादू अस्तित्व में है?

यह मेरा अपना विश्वास है की यदि आप इसमें विश्वास करते हैं, और मानते हैं कि काला जादू होता है, तो हाँ, काला जादू होता है। ऐसा कई किताबों व फिल्मों में भी दिखाया गया है कि यदि कोई इंसान जो पहले काला जादू को नहीं मानता था, जब विश्वास करने लगता है, तोह उसको इसका असर भी दिखाई देने लगता है। एक बहुत ही प्रसिद्ध किताब है 'द सीक्रेट' के नाम से, जिसमें ये बताया गया है की कैसे हमारी सोच व विचार, हमारे जीवन व भाग्य को प्रभावित करती है।

काला जादू केवल नाम से जादू है परन्तु असल में यह एक प्राचीन विज्ञान है जिसमें प्रभावशाली विचार व मंत्रों का उपयोग लाया जाता है। जिस प्रकार अच्छे मंत्रों से लोगों का कल्याण होता है, उसी प्रकार बुरे मंत्रों से दुर्भाग्य आता है।

 

काले जादू के क्या लक्षण होते हैं ?

यह पता लगाना कभी कभी मुश्किल हो जाता है।  ऐसी कई घटनायें सामने आयी हैं जिनमें पीड़ित व्यक्ति दूसरों को छलने के लिए ढोंग करता है किसी न किसी गलत उद्देश्य से - जैसे की दूसरों का ध्यान अपने ऊपर लाने के लिए।

 

काले जादू के लक्षण शारीरिक या मानसिक हो सकते हैं। इनमें से कुछ हम आपको यहां बता रहें हैं। ध्यान रहे कि कभी कभी मानसिक लक्षण काले जादू के ना होकर, मानसिक बीमारियों के भी हो सकते हैं - जैसे कि मानसिक तनाव, अकेलापन, डिप्रेशन इत्यादि। ऐसी स्थिति में पीड़ित व्यक्ति को प्रेम, ध्यान, समझ व डॉक्टर की आवश्यकता होती है, ना की प्रताड़ना की।

  • यदि पीड़ित व्यक्ति अचानक से ही अजीब सा या असामान्य व्यवहार करने लगे, अपने को दूसरों से अलग करने लगे या हर समय चिड़चिड़ाता रहे।
  • यदि व्यक्ति में से एक अजीब सी महक या दुर्गन्ध आने लगे।
  • आँखें लाल व नाखून काले पड़ने लगे।
  • यदि व्यक्ति नहाने से बचना शुरू कर दे व स्वछता पर ध्यान देना बंद कर दे।
  • यदि खाने का मैं ना करे, रात को सो ना पाए व अभद्र व्यवहार करने लगे।
  • यदि अचानक से व्यवसाय, नौकरी, पैसे, व्यक्तिगत संबंधों इत्यादि में तनाव आने लगे।
  • रात को बुरे बुरे सपने आने लगे जैसे की साँपों के, ऊंचाई से गिरने के, पानी में डूबने के इत्यादि।
  • यदि जीवन के हर क्षेत्र में हानि मिलने लगे व हर काम असफल होने लगे।
  • यदि व्यक्ति हर समय लगातार अपने आप से बड़बड़ाते हुए प्रतीत हो।
  • यदि व्यक्ति के हाथ व पाँव अस्वाभाविक रूप से हिलने व मुड़ने लगे।
  • यदि घर में तुलसी का पौधा अकस्मात् सूख जाए या बुझ जाए व पुनः न उगे।

 

 

काले जादू से कैसे बचा जाए ?

यदि आपको लगता है की आप या आपके आस पास कोई काले जादू से पीड़ित है, तो घबरायें नहीं व नीचे लिखी सावधानियाँ बरतें व उपाये करें।

 

  • एक बहुत ही कड़वा सत्य है की अधिकतर काला जादू हमारे आसपास का ही कोई व्यक्ति कराता है - जैसे कि कोई रिश्तेदार, पडोसी, दोस्त या फिर पुराना प्रेमी या प्रेमिका। बहुत ही आवश्यक है हर समय सजग व सचेत रहना। यदि आपको लगता है कि कोई आपके आसपास कोई ऐसा व्यक्ति है जो आपसे जलन रखता है, आपको पसंद नहीं करता या आपसे कोई द्वेष भावना रखता है, तो उस व्यक्ति के साथ या उसके घर पर कुछ भी खाने या पीने से बचें। और यदि कहीं साथ बाहर खाने जाएं, तो अपने खाने पीने के सामान को अकेले में उनके साथ ना छोड़े। यदि आपको लगता है की आपके ऊपर किसी ने कुछ करवा रखा है, तो किसी भी प्रकार की बुरी आदतों को छोड़ने का प्रयास करें - जैसे की शराब पीना, घूम्रपान करना, गलत संगति में रहना इत्यादि।

 

  • भगवान की आराधना करने से, विशेष रूप से अपने कुलदेवी या कुलदेवता की आराधना करने से, वे सदा हमारी रक्षा करते हैं।

 

  • किसी भी सोमवार से ये आरम्भ करें - बिलवा पत्र या बेल पत्र की पत्तियों को शिव लिंग को अर्पित करें। कहा जाता है की शिवजी को बेलपत्र अत्यंत प्रिय है। इसके बाद जल अर्पण करते हुए, कम से कम ९ (नौ) बार महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें। यदि आप इसका जप १०८ (एक सौ आठ ) बार भी कर सकते है, तो अत्यंत लाभदायक होगा और केवल ७ (सात ) दिनों में आपके ऊपर से काले जादू का साया हट जाएगा व आपको कभी नहीं छुएगा। आप महामृत्युंजय मंत्र का जाप किसी भी समय कर सकते हैं - जब आपको डर लग रहा हो या आपका मन घबरा रहा हो।   मंत्र - ॐ त्र्यं॑बकं यजामहे सु॒गन्धिं॑ पुष्टि॒वर्ध॑नम् । उ॒र्वा॒रु॒कमि॑व॒ बन्ध॑नान् मृ॒त्योर् मु॑क्षीय॒ माऽमृता॑त्।।

 

  • संध्या काल में गायत्री मंत्र का १०८ (एक सौ आठ ) बार जप करने से भी काला साया दूर रहता है।  मंत्र -  ॐ भूर्भुवः स्वः तत्स॑वि॒तुर्वरेण्यं॒ भर्गो॑ दे॒वस्य॑धीमहि धियो॒ यो नः॑ प्रचो॒दया॑त् ॥

 

  • सुबह नहाने के बाद हनुमान जी का ये मंत्र जपने से -  " ॐ हं हंनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्। " भी लाभ मिलता है।  ये जप करते हुए चमेली का दिया अवश्य जलाएं। हनुमान अष्टक पढ़ना भी एक अन्य उपाय है।

 

  • गाय के गोबर पर गुगल धुप जलाने से भी बुरा साया आँख उठाकर नहीं देखता। गायत्री मंत्र का जप करते हुए ये करें, इससे पीड़ित व्यक्ति सामान्य हो जाएगा।

 

  • कहा जाता है की श्री गणेश विघ्नहर्ता हैं, अर्थात कोई भी बाधा को हटाने में हमारी सहायता करते हैं।  इनकी पूजा करनी से घर में व जीवन में सकरात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है।

 

  • अपने घर व घर के आस पास, जहां भी आप अक्सर जाया करते हैं, उन जगहों का अच्छे से निरक्षण कर लें। यदि कोई भी आसामान्य वस्तु जैसे की कुमकुम, राख, नीम्बू, हल्दी, नाखून आदि दिखाएं दे तो या तो उसको जल में प्रवाह कर दे या फिर उससे बचें।

 

  • पवित्र जगहों पर जाने से जैसे की मंदिर, व ध्यान में बैठने से भी मन को शान्ति मिलती है। साकरात्मक ऊर्जा नाकरात्मकता का नाश करती है, इसीलिए खुश रहें व मन में अच्छे विचार रखें।

 

  • सेंधा नमक नकरात्मक ऊर्जा को सोखता है। या तो इसको अपने घर के चारों तरफ छिडकें, या फिर अपने पास किसी कांच के कटोरे में रखें व हर १५ (पंद्रह ) दिन बाद इसको बदलें।

 

यदि आपको लगता है की आपका कोई प्रियजन काला जादू से ग्रसित है, तो घबराएं नहीं। धीरज रखें  व भगवान् में आस्था भी। ध्यान रहें प्रेम व भगवान की भक्ति से बड़ी कोई शक्ति नहीं है।

 

 

जानियें अपनी सही सूर्य-राशि (सन साइन) यहाँ पर।


ये वीडियो देखिये और सीखिए अपनी कुंडली देखना मात्र 2 मिनट में।यहाँ देखें।

 

You must be logged in to Post a Comment. Login Here.