Abhijeet sharma

Expert Rating (login to rate): 
5
Average: 5 (1 vote)
Fields of Expertise: 
Expertise Level: 
Professional
Established In: 
2006
Address: Jaipur rajasthan
To consult this expert, post your query in the Comments section below.

Expert Bio

Hello my Name is abhijeet sharma i am a professional astrologer, I have been doing astrology since15 year i am from Jaipur got 4 degrees in astrology
Qualification: 
M.A in jyotish , diploma holder in vastu
Achievements: 
I am a jyotish ratn puraskrat from bhrahman mahasabha, topper in master
Guruji/ Institute Name: 
rajasthan University
Services: 
Career, Relationships,Education, Marriage, Health, Property, Family, Business, Life in Genral
Consultation Fees: 
We will give you all prediction of your horoscope if you will get satisfaction then our fees is 500 rs per horoscope
Consultation Mode: 
every day 10 to 5 pm
Social Profiles: 
Facebook, Twitter, whats app, linkedIn, gmail
Website: www.astrologerabhijeetsharma.com

You must be logged in to Post a Comment. Login Here.


Comments

Abhijeet sharma's picture
Abhijeet sharma"शनि , राहु , केतु" आज बात करते है। शनि, राहु , केतु देव की जैसा की आप सभी जानते है जब भी शनि , राहु , केतु की बात आती है लोग डर जाते है। क्यों की कुछ ज्योतिषियों ने अपनी दूकान चलाने के खातिर इन तीनो ग्रहो के बारे में लोगो को इतना जादा डरा दिया है की इन ग्रहो का नाम आते ही लोग अपनी जेब खाली करने को तैयार हो जाते है । यह बात सही है की शनि, राहु , केतु यह तीनो ग्रह क्रूर व पापी ग्रह है । किन्तु क्या आप जानते है की अगर यह ग्रह आप की कुंडली में कारक हो उच्च के हो अपनी मित्र राशि में हो और इन ग्रहों की दशा लग जाये तो आप ने कभी देखा या सुना होगा की इंसान रातो रात जमीन से आसमान को छु लेता है कल उस इंसान के पास कुछ नहीं था और आज उस के पास सब कुछ है यह योग शनि राहु केतु की दशा में देख ने को मिलता है मेरे पास ऎसी कई कुण्डलिया है जिन को शनि राहु केतु की दशा लगते हे करोड़पति हो गए । किन्तु हा अगर हम इन तीनो ग्रहो को दूसरे नज़रिये से देखे तो ये हे ग्रह अगर आप की कुंडली में मारक है ,नीच के है , शत्रु राशि में है 6,8,12 स्थान में स्थित है तो यह जातक की कुंडली में बुरा फल भी देते है किन्तु मेरा इस लेख को लिख ने का एक मात्र उदेश्य यह है की अगर आप की कुंडली में इन तीनो ग्रहों की स्थिति सही ना भी हो तो आप कुछ उपाय कर के इन्हे शांत कर सकते है । और अपने जीवन को सुचारू रूप से व्यतीत कर सकते है । बात करते है शनि देव की जैसा की हम सब लोग जानते है की शनि देव न्यायप्रिय देव है आप की कुंडली में अगर शनि की स्थिति सही नहीं है तो आप कुछ भी गलत कार्य न करे शनि का फल आप को अपने कर्म के अनुसार ही मिलता है अगर आप के कर्म अच्छे होंगे तो शनि का बुरा प्रभाव आप को परेशान नहीं करेगा,क्या करे अपने से नीचे स्थर के लोगो को प्रताड़ित न करे, किसी के साथ बुरा ना करे,किसी की चुगली ना करे,छल कपट से दूर रहे , असहाय व्यक्तियो की सम्भवत सहायता हरे , शनिवार को कुछ काली वस्तु का दान करे शनिवार को तिल्ली के तेल में छाया दान करे व शनि चालीसा का पाठ करते है तो आप को शनि का बुरा प्रभाव देख ने को नहीं मिलेगा, राहु और केतु की स्थिति योग फल भी कुछ इसी प्रकार के है। अगर शुभ स्थिति में तो तो कुछ करने की आवश्यकता हे नहीं है किन्तु अगर अशुभ अवस्था में है तो छोटे छोटे उपाय से ही आप इन्हें शांत कर सकते है राहु उपाय में आप चींटियों को आटा डाले , भगवान भैरव की सेवा करे ॐ रांग राहवे नमः का जाप करे आप को शत प्रतिशत लाभ प्राप्त होगा , केतु शांति के लिए भगवान गणपति के सेवा और केतवे नमः का जाप करना लाभ प्रद रहता है । मित्रो आप को एक और जानकारी से अवगत कराना चाहता हु। किसी भी ग्रह का अच्छा व बुरा फल उस ग्रह की डिग्री के बला बल पर आधारीत होता है । अगर ग्रह की डिग्री 0, 28,29 हो तो वह अस्थ अवस्था में कुंडली में कितने ही अच्छे स्थान पे हो उच्च का हो फल नहीं देगा ( आचार्य अभिजीत शर्मा )
Abhijeet sharma's picture
Abhijeet sharma"शनि , राहु , केतु" आज बात करते है। शनि, राहु , केतु देव की जैसा की आप सभी जानते है जब भी शनि , राहु , केतु की बात आती है लोग डर जाते है। क्यों की कुछ ज्योतिषियों ने अपनी दूकान चलाने के खातिर इन तीनो ग्रहो के बारे में लोगो को इतना जादा डरा दिया है की इन ग्रहो का नाम आते ही लोग अपनी जेब खाली करने को तैयार हो जाते है । यह बात सही है की शनि, राहु , केतु यह तीनो ग्रह क्रूर व पापी ग्रह है । किन्तु क्या आप जानते है की अगर यह ग्रह आप की कुंडली में कारक हो उच्च के हो अपनी मित्र राशि में हो और इन ग्रहों की दशा लग जाये तो आप ने कभी देखा या सुना होगा की इंसान रातो रात जमीन से आसमान को छु लेता है कल उस इंसान के पास कुछ नहीं था और आज उस के पास सब कुछ है यह योग शनि राहु केतु की दशा में देख ने को मिलता है मेरे पास ऎसी कई कुण्डलिया है जिन को शनि राहु केतु की दशा लगते हे करोड़पति हो गए । किन्तु हा अगर हम इन तीनो ग्रहो को दूसरे नज़रिये से देखे तो ये हे ग्रह अगर आप की कुंडली में मारक है ,नीच के है , शत्रु राशि में है 6,8,12 स्थान में स्थित है तो यह जातक की कुंडली में बुरा फल भी देते है किन्तु मेरा इस लेख को लिख ने का एक मात्र उदेश्य यह है की अगर आप की कुंडली में इन तीनो ग्रहों की स्थिति सही ना भी हो तो आप कुछ उपाय कर के इन्हे शांत कर सकते है । और अपने जीवन को सुचारू रूप से व्यतीत कर सकते है । बात करते है शनि देव की जैसा की हम सब लोग जानते है की शनि देव न्यायप्रिय देव है आप की कुंडली में अगर शनि की स्थिति सही नहीं है तो आप कुछ भी गलत कार्य न करे शनि का फल आप को अपने कर्म के अनुसार ही मिलता है अगर आप के कर्म अच्छे होंगे तो शनि का बुरा प्रभाव आप को परेशान नहीं करेगा,क्या करे अपने से नीचे स्थर के लोगो को प्रताड़ित न करे, किसी के साथ बुरा ना करे,किसी की चुगली ना करे,छल कपट से दूर रहे , असहाय व्यक्तियो की सम्भवत सहायता हरे , शनिवार को कुछ काली वस्तु का दान करे शनिवार को तिल्ली के तेल में छाया दान करे व शनि चालीसा का पाठ करते है तो आप को शनि का बुरा प्रभाव देख ने को नहीं मिलेगा, राहु और केतु की स्थिति योग फल भी कुछ इसी प्रकार के है। अगर शुभ स्थिति में तो तो कुछ करने की आवश्यकता हे नहीं है किन्तु अगर अशुभ अवस्था में है तो छोटे छोटे उपाय से ही आप इन्हें शांत कर सकते है राहु उपाय में आप चींटियों को आटा डाले , भगवान भैरव की सेवा करे ॐ रांग राहवे नमः का जाप करे आप को शत प्रतिशत लाभ प्राप्त होगा , केतु शांति के लिए भगवान गणपति के सेवा और केतवे नमः का जाप करना लाभ प्रद रहता है । मित्रो आप को एक और जानकारी से अवगत कराना चाहता हु। किसी भी ग्रह का अच्छा व बुरा फल उस ग्रह की डिग्री के बला बल पर आधारीत होता है । अगर ग्रह की डिग्री 0, 28,29 हो तो वह अस्थ अवस्था में कुंडली में कितने ही अच्छे स्थान पे हो उच्च का हो फल नहीं देगा ( आचार्य अभिजीत शर्मा )